Secure socket layer  (SSL) kya hai ? SSL Certificate kaise kaam karta hai ?

Secure socket layer  (SSL) kya hai एस एस एल प्रोटोकोल नेटस्कैप द्वारा डिवेलप किया  गया है।  एसएसएल प्रोटोकोल को मुख्य रूप से प्राइवेट डॉक्यूमेंट को इंटरनेट के द्वारा ट्रांसमिशन करने के लिए यूज किया जाता है।  एसएसएल इस प्रकार डिजाइन किया हुआ है कि  सिक्योरिटी के साथ साथ डाटा को कंप्रेस करके एप्लीकेशन  लेयर से डाटा जनरेट करता है।

 

Secure socket layer  (SSL) kya hai

Secure Socket Layer (SSL) kya hai | What is SSL Certificate How Does it Work

एसएसएल  प्रोटोकॉल का मुख्य प्रयोग  क्लाइंट और सर्वर के बीच ऑथेंटिकेट एंड इंक्रिप्टेड कम्युनिकेशन प्रोवाइड कर आता है।  एसएसएल का सबसे ज्यादा प्रयोग पब्लिक की  से  इंक्रिप्टेड डाटा  मैं ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है।  इंक्रिप्टेड डाटा एसएसएल कनेक्शन के द्वारा भेजा जाता है।  डाटा को रिसीव करते समय डिस्क्रिप्टिव करता है जो पब्लिक की द्वारा यूज किया जाता है।

एसएसएल नेटस्कैप नेविगेटर और इंटरनेट एक्सप्लोरर दोनों को सपोर्ट करता है।  यह प्रोटोकॉल लगभग सभी वेबसाइट में यूज होता है।  जो उपभोक्ताओं को भरोसा दिलाता है जैसे कि क्रेडिट कार्ड नंबर एवं पासवर्ड। यह वेब पेज  (ssl ) एसएसएल शुरुआती यूआरएल  एचटीटीपीएस  से आरंभ होता है।  एचटीटीपीएस स्टैंडर्ड फॉर हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल। Secure socket layer  (SSL) kya hai

 

 

SSL Certificate kaise kaam karta hai

 

You May Like Address Resolution Protocol (ARP) kya hai | ARP Command kaise kam karta hai ?

SSL Certificate kaise kaam karta hai ?

SSL – वेबसाइट अथवा वेब पेज एवं उसके  उपभोक्ताओं  के बीच  कनेक्शन को सुरक्षित रखने के लिए  एसएसएल एक इंक्रिप्टेड टेक्नोलॉजी प्रोवाइड कराता  है।  जो  की वेबसाइटों के द्वारा प्रयोग किया जाता है।

What is Secure Socket Layer And How it Works

एसएसएल विभिन्न प्रकार की सर्विस प्रोवाइड कर आता है जो एप्लीकेशन लेयर द्वारा डाटा रिसीव किया जाता है।

Fragmentation (फ्रेगमेंटेशन) –  एसएसएल डाटा को 2 अथवा इससे कम , ब्लॉक  में डिवाइड करता है।

Compression (कंप्रेशन) – एसएसएल द्वारा यह एक अतिरिक्त सर्विस है।  यह सर्वर एवं क्लाइंट के बीच नेगटिआटेड  मेथोड  द्वारा डाटा को कंप्रेस करता है।  इसके फलस्वरूप डाटा लॉस नहीं होता है।

Message Integrity (मैसेज इंटीग्रिटी) – एसएसएल डेटा की अखंडता को संरक्षित करने के लिए एक संदेश प्रमाणीकरण कोड बनाने के लिए कीड हैश फ़ंक्शन का उपयोग करता है।

Confidentiality (गोपनीयता) – मूल डेटा और MAC को गोपनीयता प्रदान करने के लिए क्रिप्टोग्राफी में सममित कुंजी का उपयोग करके एन्क्रिप्ट किया गया है।

Framing (फ़्रेमिंग) -हेडर एन्क्रिप्टेड पेलोड में जोड़ा जाता है। पेलोड तब एक भरोसेमंद ट्रन्समिशन लेयर  प्रोटोकॉल के लिए पारित किया जाता है।

You May Like – ipconfig Command kya hai ? ipconfig command how to use ?

You May Like – SMTP Protocol kya hai ? Simple Mail Transfer Protocol कैसे काम करता है ?

तो दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से Secure socket layer (SSL) kya hai | SSL Certificate kaise kaam karta hai ?  के बारे में डिटेल से बताया है।  यह जानकारी आपको अच्छी लगे तो  कमेंट करके जरूर बताएं।  और अपने दोस्तों को शेयर भी करें।  धन्यवाद !!!

0Shares