International Telecommunication Union – Telecommunication | ITU-T Kya hai ?

International Telecommunication Union – Telecommunication (ITU-T)

अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ- दूरसंचार (International Telecommunication Union – Telecommunication) (मानकीकरण क्षेत्र) सबसे पुराना अंतर सरकारी संगठन है। इसे पहले अंतर्राष्ट्रीय टेलीफोनी और टेलीग्राफी (CCITT) पर सलाहकार समिति के रूप में जाना जाता है। यह अंतरराष्ट्रीय रेडियो और दूरसंचार को मानकीकृत और विनियमित करने के लिए स्थापित है। सार्वजनिक और निजी (Organizations) संगठन (इंटरनेशनल  टेलीकम्यूनिकेशन यूनियन – टेलीकम्यूनिकेशन) अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ- दूरसंचार के द्वारा (Telecommunication) दूरसंचार का विकास करते है।

International Telecommunication Union - Telecommunication

International Telecommunication Union के माध्यम से दूरसंचार का विकास 1865 में पेरिस में किया गया था। एक अंतरराष्ट्रीय टेलीग्राफ संघ 1947 में यह  एकजुट होकर राष्ट्र एजेंसी बन गया। 1992 में, आईटीयू ने संघ के लिए नए उद्देश्यों का उल्लेख किया है। दूरसंचार के सुधार के लिए, संघ के सभी सदस्यों के बीच अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बनाए रखने की जरूरत है। ITU-T दूरसंचार के क्षेत्र में विकासशील प्रतियोगिता एंव तकनीकी सहायता प्रदान करता है ।

से भी पढ़ेंRemote Access Setup क्या है और Remote Access Setup कैसे करें ?

ITU-T  Full Form –International Telecommunication Union – Telecommunication

 

Contribution of  ITU-T  -अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ- दूरसंचार का योगदान 

अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ (ITU) के  तीन मुख्य विभागों में से एक हैं। ITU (इंटरनेशनल  टेलीकम्यूनिकेशन यूनियन)  को शुरुआत में दूरसंचार सिस्टम को अंतर्राष्ट्रीय इंटर कनेक्शन  को मैनेज करने के लिए बनाया गया था। उस समय से ही  (इंटरनेशनल  टेलीकम्यूनिकेशन यूनियन – टेलीकम्यूनिकेशन) अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ ने रेडियो कम्युनिकाशम ,टेलीफोन  ,और रेडियो  तथा टेलीविजन प्रसारण की सुविधा एंव विकास में महत्त्व पूर्ण कदम उठाया है।

 

ITU-telecommunication

 

इंटरनेशनल  टेलीकम्यूनिकेशन यूनियन विश्व स्तर पर सभी सरकारों की रीढ़ की हड्डी है। ITU-T (इंटरनेशनल  टेलीकम्यूनिकेशन यूनियन – टेलीकम्यूनिकेशन) ने अंतराष्ट्रीय स्तर पर सरकारी व् निजी समुदाय  को  संसार की सभी सुविधाएं प्रदान की है।  जैसे – (A) उपग्रह संचार सिस्टम – टेलीविजन और रेडियो प्रसारण , (B) विभिन्न  प्रकार के वायरलेस सिस्टम  –  मोबाइल टेलीफोन  और वायरलेस कम्प्यूटर कम्युनिकेशन  आदि। 

You May Like – Tenda O3 5km Wifi Outdoor Router – point to point CPE  कॉन्फ़िगर कैसे करें ?

हैल्लो दोस्तों यह आर्टिकल आपको कैसा लगा ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट दर्ज करके बताएं ! आशा  करता हु कि इस  आर्टिकल के द्वारा आप समझ गए होंगे कि ITU-T Kya hai ?। यदि यह आर्टिकल आपको हेल्पफुल लगा हो तो कृपया इसे शेयर करना ना  भूले।  धन्यबाद !!

1Shares