DHCP server kya hai | What is DHCP Server

DHCP server kya hai | Dynamic Host Configuration Protocol:DHCP server IP Address  को Dynamic Configuration प्रदान करता है। DHCP  मुख्य रूप से विंडो सिस्टम या कंप्यूटर के लिए उपयोग किया जाता है। , आईपी एड्रेस, डिफॉल्ट गेटवे, डीएनएस एड्रेस इत्यादि जैसी सभी जानकारी होस्ट सिस्टम को प्रदान करता है। DHCP Protocol  Bootstrap प्रोटोकॉल (BOOTP) का एक विस्तार है। Bootstrap Protocol एक datagram Protocol का एक USER हैं। जो Bootstrap  Protocol  client  को automatic IP Address प्रदान करता हैं। ऐसा कोई नियम नहीं है की कोई Single कंप्यूटर ही DHCP यूज़  कर सकता हैं। इसलिए Single कंप्यूटर भी IP address की पूरी information  DHCP  सर्वर से प्राप्त कर सकता है। 

DHCP server kya hai | What is DHCP Server

DHCP server kya hai जबकि अन्य कंप्यूटर static IP address यूज़  कर सकता  है। DHCP को small नेटवर्क और बड़े Organization नेटवर्क पर भी लागु किया जा सकता है।किसी बड़ी company या Enterprise में TCP/IP को manually असाइन करने के बजाय ऑटोमेटिकली assign  करते है। जिसके लिए DHCP यूज़  होता है। by default DHCP server नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम (NOS) window ,Netware और Linux में होता है।

 

DHCP SERVER KYA HAI

 

मुख्य रूप से  DHCP  को  इन 2 Versions  में उपयोग कर सकते है। जो निम्न प्रकार हैं। 
 
(1) (IPv4) Internet Protocol version 4


Advantages of DHCP Server (DHCP के फायदे):-

1- DHCP  से IP (Inernet Protocol) conflict होने का कोई डर नहीं होता है। और IP address याद करने की कोई जरुरत नहीं होती हैं। 

2- समय की बचत होती है। 

3-बड़ी -बड़ी कम्पनियो में कम से कम स्टाफ से ही काम चल जाता है।  

4- DHCP से एक responsive नेटवर्क तैयार होता है, जिससे नेटवर्क से जुडी सभी devices को एक dynamic IP address प्राप्त हो जाता है। 

5- DHCP को सरल तरीके से manage कर सकते है। जिससे DNS, Default gateway, को  अलग से Configure नहीं करना पड़ता है।  

Disadvantages of DHCP Server (DHCP के नुकसान) :-
 

1- कुछ स्थिर और IP address वाली devices के लिए DHCP Use नहीं कर सकते है जैसे की Printer, File सर्वर। क्योकि ये device IP address रखती है। फलस्वरूप device या (printer)  disconnect  हो जाती है। इसलिए DHCP, ऐसी devices (उपकरण)  के लिए अनावश्यक होता है इस प्रकार के उपकरणों के लिए DHCP  के बजाय मैन्युअली Configuration करना चाहिए। 

 

2- किसी भी system और क्प्म्पुटर को restart करने के बाद IP address change हो जाता है।


Client और server में DHCP  का उपयोग :-


Dynamic  Host  Configuration  Protocol – सर्वर और क्लाइंट Oparation  में सामान्यता Transmission Control Protocol / Internet Protocol के आधार पर काम करता है। जिसमे एक कंप्यूटर client  और दूसरा कंप्यूटर server का Role  अदा  करता है। इसमें Messages और डाटा भेजना और प्राप्त करना  server  और client  दोनों की जिम्मेदारी होती है।
DHCP सर्वर और क्लाइंट दोनों एक दूसरे के (Complementary) पूरक Role अदा  करते है। क्लाइंट केवल अपने (Parameters) मापदंडो को फॉलो करता है, जबकि server  सभी client के मापदंडो को Maintain और configuration करता  है। DHCP server kya hai 

Responsibilities Of DHCP Server :-

(A)- (Providing Administration Services ) प्रशासकीय सेवाएं प्रदान करना :-

DHCP वह सब जिम्मेदारियां Maintain करता है जो एक Netwok Administrator को करनी चाहिए ,जैसे की IP address को बदलना या बिश्लेषण करना ,Parameters कॉन्फ़िगर करना और अन्य जरूरी information Provide करता है, जो Dynamic Host Configuration Protocol  को Run  करने के लिए होती है। DHCP server kya hai 

(B)- (Responding To Client Requests):-

Client की विभिन्न प्रकार की request  को Manage  करता है ,जैसे – आई पी एड्रेस asign  करना , renew करना और leases  को Terminate करना आदि है। 

(C)-Client IP Address Storage & Management :-

सभी DHCP क्लाइंट्स के आई  पी  एड्रेस को store और मैनेज करता हैं, साथ ही allocated और Non-allocated आई पी एड्रेस को भी ट्रैक करता है।    

Responsibilities Of DHCP Client :-

(A)- Configuration of Parameter Mangement :- 
इसमें क्लाइंट कॉन्फ़िगरेशन से related पैरामीटर Maintain करता है, जो उसे DHCP Server  से प्राप्त हुए है।  

(B)- Lease Management:- क्लाइंट को यह याद  रहता है की उसे (dynamically) गतिशील आई पी प्राप्त हुआ है जो की उसे कुछ समय के लिए ही मिला है लेकिन क्लाइंट को  लीज Renew करने की permission  होती है। यदि क्लाइंट को लम्बे समय  तक IP address की जरुरत नहीं होती तो क्लाइंट इस lease को terminate भी कर सकता है। 

(C)- Message Retransmission:-  जब Dynamic Host Configuration Protocol 

अविश्वसनीय User datagram Protocol  का इस्तेमाल करके क्लाइंट को मैसेज  भेजता है तो मैसेज  को रिसीव अथवा Detect करना क्लाइंट की responsibility होती है। DHCP server kya hai 

How Does DHCP Work ?

IP Address Allocation Method-

DHCP एक बिशेष  समय  के लिए क्लाइंट को  आई  पी  एड्रेस प्रदान करता है जब लीज टाइम ख़तम होता है। उस समय क्लाइंट IP address का उपयोग बंद कर देता है या lease टाइम को renew  करता है। उस समय सर्वर, क्लाइंट के lease  टाइम की रिक्वेस्ट से सहमत हो सकता है और नहीं भी। यह सर्वर पर निर्भर करता है। 

DHCP Server  तीन विशेष तरीके से Host को IP address Allocate करता है ,जो निम्नलिखित है। 

  • Manual Allocation – Menual allocation में server administrator के अनुसार Host system को  IP Address प्रोवाइड किया जाता है।   
  • Automatic allocation -क्लाइंट की request के अनुसार DHCP  आई  पी  एड्रेस के pool ऑप्सन से Permanently IP assign करता है। 
  • Dynamic allocation – Host system  की request  और लीज टाइम के अनुसार एक डायनामिक आई  पी एड्रेस प्रदान करता है।  

Overview of Lease Life Cycle:-

DHCP server आई  पी एड्रेस का ख़ास  मालिक होता है जो  होस्ट को एक निश्चित टाइम पीरिऑड के लिए आई पी एड्रेस उपयोग करने की अनुमति देता है। तथा सर्वर एक टाइम में एक आई पी  एड्रेस को अन्य क्लाइंट को नहीं दे सकता और क्लाइंट को प्रदान किया हुआ आई  पी  एड्रेस क्लाइंट उसे एक Static आई  पी  एड्रेस की तरह use  नहीं कर सकता है यह सब server  पर निर्भर करता है की होस्ट को कितने टाइम तक आई  पी  एड्रेस उपयोग करने देना है।

यदि कोई सिस्टम restart या shutdown  हो जाता है तो इस परिस्थिति में DHCP server उस सिस्टम से contact करता है और lease time renewal तथा  कन्फर्म होने तक इंतजार करता है। यदि lease  कन्फर्म हो जाती है तो उस सिस्टम को पुनः एक Dynamic आई  पी  एड्रेस प्रदान करता है।     

 Also See About-What is Domain Name System -डोमेन नाम सिस्टम क्या है ?

   

नमस्कार दोस्तों ,मुझे आशा है की  इस आर्टिकल से आपको DHCP server kya hai  के बारे में  कुछ महत्वपूर्ण  जानकारी मिली होगी, और यह आर्टिकल आपके  लिए एक मददगार साबित हुआ होगा ,यदि ब्लॉग आपको Helpful लगा हो तो Follow  और share  करना ना  भूलें। इसके आलावा भी कोई जानकारी चाहते  है या कोई प्रश्न  है, तो प्लीज Comment  box  में जाकर अपना कमेंट दर्ज कर सकते है ।  हम जल्द से जल्द आपके प्रश्न का  उत्तर  देने की कोशिश करेंगे।
Thanks 
0Shares