Why There Are Stones Under The Railway Tracks – रेल की पटरियों के नीचे पत्थर क्यों होते हैं – जानिए राज !!!

Why There Are Stones Under The Railway Tracks  – दोस्तों आज हम तुम्हें ऐसी जानकारी से रूबरू कराने जा रहे हैं कि जब आप रेल से यात्रा करते होंगे तो आपके मन में एक विचार अवश्य चलता होगा कि रेल की पटरियों के नीचे पत्थर क्यों बिछाए जाते हैं। दोस्तों हर बार जब आप रेल में सफर करते हो तब देखते हो कि रेल की ट्रैक के आसपास और नीचे पत्थर बिछे होते हैं जिन्हें हम गिट्टी भी कहते हैं।

Why There Are Stones Under The Railway Tracks

दोस्तो सबसे पहले हम यह जानेंगे कि जो भी रेल की पटरी आप देखते हैं वह इतनी नॉर्मल नहीं होती सबसे पहले पटरी के नीचे कॉंक्रीट से बने हुए लंबे-लंबे प्लेट होते हैं जिन्हें हम स्लीपर भी बोल देते हैं। दोस्तों स्लीपर से नीचे और अगल-बगल यह पत्थर बिछे होते हैं और इस सारे पत्थरों को बैलेंस्ड कहते हैं। Why There Are Stones Under The Railway Tracks 

Why There Are Stones Under The Railway Tracks ?

इन पत्थरों के नीचे दो लेयर और होते हैं दोस्तों सबसे नीचे वाले लेयर पर जमीन होती है। ज्यादातर लोगों को यह मालूम होता है कि नॉर्मल जमीन के ऊपर स्लीपर रखकर पटरी बिछा दी जाती है पर दोस्तों यह बात बिल्कुल सच नहीं है। जब दोस्तों आप रेलवे ट्रैक को गौर से देखोगे तो यह पता चलेगा कि यह ट्रैक चौड़ी और ऊंचाई पर बनाई जाती है रेलवे ट्रैक के नीचे बहुत सारे सेटिंग सोते हैं।

You May Like – 15 Hindi Short Stories With Moral for kids – 15 प्रेरणादायक कहानियाँ

दोस्तों जो स्लीपर होते हैं इनके ऊपर जो पटरी बिछती है यह भी बहुत जरूरी होती है दोस्तों जो स्लीपर होते हैं वह कॉन्करेड के बने होते हैं। यह स्लीपर पटरी के गैफ को बनाए रखते हैं और कोंकरेड के बने स्लीपर को एक जगह रखना पत्थरों का काम होता है दोस्तों यह पत्थर सीमेंट के बने लंबे-लंबे स्लीपर को एक जगह पर रखते है और यह स्लीपर लोहे की बनी पटरी को एक जगह पर होल्ड करता है।

कहने का मतलब यह है कि यहां पर जो मेन काम होता है वह पत्थरों द्वारा किया जाता है। दोस्तों में अपनी जानकारी के द्वारा आपको बता दूं कि ट्रेन का वजन लगभग दस लाख किलोग्राम होता है तो आप आराम से सोच सकते हो कि एक लोहे का बना हुआ पतला सा ट्रैक ही इसे कैसे संभाल सकता है इस पूरी ट्रेन का बजन संभालने में लोहे के बने ट्रैक का और कोंकरेड से बने स्लीपर का और इन पत्थरों का सबका मिलकर योगदान होता है। Why There Are Stones Under The Railway Tracks 

रेल की पटरियों के नीचे पत्थर क्यों होते हैं जानिए राज !!!

पर  देखा जाए तो जानकारी यह निकल कर आती है कि ट्रेन का सबसे ज्यादा लोड इन पत्थरों पर ही जाता है यह पत्थर ही वह चीज हैं जो रेलवे ट्रैक को एक जगह रखने में पूरी भूमिका निभाते हैं पर दोस्तों रेलवे ट्रैक की पटरियों के नीचे ऐसी बेसे पत्थरों का प्रयोग नहीं किया जाता है दोस्तों हम रेलवे ट्रैक के नीचे गोल गोल पत्थरों का प्रयोग नहीं कर सकते रेलवे ट्रैक के नीचे नुकीले पत्थरों का प्रयोग किया जाता है जो ट्रेन की ट्रेक को एक जगह पर स्थाई रखने में सक्षम हों।

You May Like  – Top 10 Hindi Stories With Moral – संसार की सर्वश्रेष्ठ 10 प्रेरक कहानियाँ

जब भारी ट्रेन ट्रैक के ऊपर से निकलती है तो यह नुकीले पत्थर अपनी अकड़ बनाए रखते हैं यह काम गोल पत्थर नहीं कर सकती दोस्तों ट्रेन चाहे कितनी भी भारी हो यह लोहे का बना पटरी और स्लीपर एक जगह पर फिक्स रहता है दोस्तों इन पत्थरों का और एक काम होता है यदि दोस्तों इन पत्थरों को स्लीपर के नीचे नहीं बिछाया जाए तो रेलवे ट्रैक पर बहुत छोटे-छोटे पेड़ पौधे एवं घास उग आएंगे इसलिए यह पत्थर घास को उगने से रोकते हैं और घास को उगने से रोकने के साथ-साथ पानी के जमाव को भी रोकते हैं

Rail kee patariyon ke neeche patthar kyon hote hain  ?

दोस्तों जब आप अगली बार रेल का सफर करो तो इन पत्थरों को सेल्यूट कर देना और लोहे से बनी परियों की बजाय इन पत्थरों को नोट करना कि कैसे ये पटरी को एक जगह पर स्थित कर देते हैं। Why There Are Stones Under The Railway Tracks 

दोस्तों हमारे द्वारा दी गई जानकारी में आपने जाना कि Why There Are Stones Under The Railway Tracks – रेल की पटरियों के नीचे पत्थर क्यों होते हैं !  अगर आपको अच्छा लगा तो हमारी जानकारी को जरूर शेयर करें।

1Shares