What secret lies behind putting coins in the river – क्या आप जानते हैं कि नदी में सिक्के डालने के पीछे क्या रहस्य !

दोस्तो What secret lies behind putting coins in the river हमारे भारत देश में कई धर्मों के लोग रहते हैं और यहां अनेक परंपराएं मानी जाती हैं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो इन परंपराओं को अंधविश्वास मानते हैं तो कुछ लोग ऐसे भी होते हैं कि इन परंपराओं पर विश्वास भी करते हैं ऐसी ही एक परंपरा के बारे में मैं आपको रूबरू कराने कराने जा रहा हूं। वह है कि लोग नदी में सिक्का क्यों डालते हैं।

What secret lies behind putting coins in the river

दोस्तों वैसे तो पानी में सिक्के डालने वाली परंपरा कोई अंधविश्वास नहीं है बल्कि एक उद्देश्य से बनाई गई है यह वैज्ञानिक प्रक्रिया है दोस्तों प्राचीन काल में तांबे के सिक्के का प्रचलन था। क्योंकि तांबे के सिक्के से पानी का शुद्धिकरण होता है ।आयुर्वेद में भी यह कहा गया है कि तांबे के बर्तन में जल रखने से जल शुद्ध हो जाता है और यह जल हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। | What secret lies behind putting coins in the river| 

दोस्तों यह माना जाता है कि प्राचीन काल में लोग नदियों या किसी जल स्रोत से होकर जाते थे तो जब उन्हें प्यास लगती थी तो ऐसी अवस्था में नदी और तालाब से पानी पी लेते थे इसलिए पानी का शुद्धिकरण करने के लिए प्राचीन काल के लोग पानी में तांबे का सिक्का डाला करते थे ।दोस्तों तांबे से पानी का पूरी तरह से रिएक्शन होता है जिससे हमारा जल शुद्ध हो जाता है।  इसी वजह से प्राचीन काल के लोग नदी , तालाब या जलाशय उसमें सिक्का डालते  थे। दोस्तों यह प्रथा तभी से चली आ रही है ,तो दोस्तों आज के इस युग में पानी को शुद्ध करने के लिए बहुत सारे वैज्ञानिक उपकरण बना दिए गए हैं।

What secret lies behind putting coins in the river

What secret lies behind putting coins in the river अब ज्यादातर आपने देखा होगा कि लोग नदी या तालाब मैं से पानी नहीं पीते हैं कि जब तक उसका वैज्ञानिक तकनीक द्वारा शुद्धीकरण ना हो जाए। दोस्तों आजकल सिक्कों में तांबे का प्रयोग बिल्कुल ना के बराबर हो रहा है। इसलिए आज के समय में नदी या किसी जलाशय में सिक्का डालने से पानी को नुकसान पहुंचता है दोस्तो आपने काफी बार देखा होगा।

नदी में सिक्के डालने के पीछे क्या रहस्य

 

कि जब हम किसी बस या ट्रेन में यात्रा कर रहे होते हैं तो हम कोई नदी या जलाशय आ जाने पर अपनी जेब से सिक्का निकाल कर अपने बच्चों के ऊपर न्योछावर करने के बाद में नदी में फेंक देते हैं इससे हमें यह महसूस होता है कि हमारे बच्चे के ऊपर किसी की गंदी नजर या दोष लग गया हो तो अब सिक्का नदी में फेंकने से मेरा बच्चा दोषमुक्त हो जाएगा ।

You May Like – मनुष्य को आत्माएं क्यों दिखाई नहीं देती – जाने इसकी वजह।

दोस्तों ज्योतिष में तो यह भी कहा गया है अगर पानी में सिक्का डाल दिया जाए तो इससे हमें पुण्य प्राप्त होता है दोस्तों प्राचीन काल में जब लोग पानी में सिक्का डालते थे तो सिक्के धीरे-धीरे पानी में जमा हो जाते थे और ऐसे ही पानी का अच्छी तरह शुद्धीकरण होता रहता था इसलिए लोग पानी में सिक्का डालते थे लेकिन इस परंपरा के चलते चलते यह परंपरा आज तक चली आ रही है।

0Shares

Leave a Reply