Stepmothers challenge Cow love – सौतेली माँ की ललकार, एक सराहनीय कहानी !

यह कहानी कई साल पहले Stepmothers challenge Cow love वाराणसी के पास एक गांव की है । उस छोटे से गांव में एक पारंपरिक और बहुत सुंदर एक परिवार रहता था एक समय की बात है कि अचानक उस परिवार को  किसी की बुरी नजर इस प्रकार लगी कि उस परिवार की खुशियां  मोती की तरह  बिखर गई ।  उस परिवार में एक लीला नामक नाम का व्यक्ति था  किसी कारणवश एक दिन  लीला  की  पत्नी गुजर गई। (Stepmothers challenge Cow love)

 

Stepmothers challenge Cow  love
 

 

अब तो लीला के दुखों  का ठिकाना ना रहा । लीला ही अपने परिवार का मुखिया था। जब परिवार का मुखिया ही  दुखी हो जाए तो इस हालत में  घर की स्थिति और भी खराब  हो जाती है । लीला अपने परिवार को इस हालत में देख कर बहुत ज्यादा दुखी हो गया। वह अपने बेटे के बारे में सोचने लगा ,कि मेरा बेटा का अब क्या होगा इसका पालन – पोषण कैसे होगा। घर की आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर हो चुकी थी।  अब लीला अपने बेटे के बारे में सोच- सोच कर बहुत दुखी हो गया था । (Stepmothers challenge Cow love)
 

Stepmothers challenge Cow love –  एक सराहनीय कहानी ,जरूर पढ़े।  

उसी समय उसी गांव का एक व्यक्ति राकेश, लीला के घर के आगे होकर गुजर रहा था। तो उसने लीला को दुखी देखकर पूछा भाई लीला राम क्या बात है।  आप इतने परेशान कैसे लग रहे हो लीलाराम ने कहा भाई मेरे परिवार को न जाने  किसकी बुरी नजर लग गई है।  हमारी वसुधा तो हमें छोड़ कर चली गई।  तब राकेश ने कहा भाई जो हुआ सो हुआ अब आप कब तक अपनी वसुधा के बारे में सोच सोच कर अपने बेटे की जिंदगी को बर्बाद करोगे। तो लीलाराम बोला तो मैं क्या करूं मेरे भाई तुम ही बताओ। राकेश ने कहा भाई देखो मैं तुम्हारे बेटे की भविष्य के बारे में बता रहा हूं। Stepmothers challenge Cow love
 
तुम मेरी बात मान लो तो अच्छा रहेगा तुम अब दूसरी शादी कर लो । तो लीलाराम , राकेश की बातें सुनकर सोचने लगा उसके मन में ख्याल आया कि मेरे बेटे का भविष्य शायद सुधर  सकता है, अगर मैं दूसरी शादी कर लूंगा तो।  लीलाराम  राकेश से बोला मैं तैयार हूं।  उसी समय लीला राम ने दूसरी शादी करने के लिए हां कर दी जब लीला राम की दूसरी शादी हो जाती है ,तो उसकी  दूसरी पत्नी का  नाम राधा था। वह जब घर में आती है तो लीला राम के बेटे को अपनाने से मना कर देती है।  उसने जो लीलाराम का बेटा था उसको मां का प्यार बिल्कुल नहीं दिया।(Stepmothers challenge Cow love)

You May Like – best Prernadayak kahaniya in Hindi – 7 प्रेरणादायक हिंदी कहानियां !

Sauteli maa vs gaay mata – kahani !

 
लीलाराम का बेटा तो उस राधा को बिल्कुल अपनी मां की तरह मानता था। और वह बिना बोले घर का सारा काम करता था ,फिर भी राधा उसे मारती थी और एक दिन की बात है कि अचानक लड़के की तबीयत खराब हो गई और उसने घर का कोई काम नहीं किया राधा जब सुबह उठी तो उसने देखा कि लड़के ने घर का कोई काम नहीं किया तो राधा  उससे बहुत नाराज हो गई। उसने लड़के को बहुत मारा और उसे शाम को खाना भी नहीं दिया उसने लीलाराम से कहा कि मैं तुम्हारे इस  लड़के को और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर सकती हूं। 
 
लीलाराम बहुत ही दुखी था लेकिन मजबूर था यह बात लड़के ने सुनी तो वह अपनी मां की याद करके बहुत रोने लगा और वह अपने यहां जो गाय थी उसको अपनी मां मानने लगा और उसको अपनी सारी बातें बताने लगा । फिर वह रात को अपनी गाय को लेकर वहां से चला गया वह रात में चलते चलते एक पीपल के पेड़ के नीचे बैठ गया और जब सुबह हुई तो वह अपने गायों को चराने के लिए चला गया और जब शाम को वह गाय को लेकर लौटा तो उसने गाय के दूध को निकालकर एक छेद में डाल दिया और  जो बचा सो उसने पी लिया ऐसा कई दिनों तक चलता रहा, एक दिन की बात है।Stepmothers challenge Cow love

 

Stepmothers challenge Cow love !

कि जब लड़का उस छेद में दूध डाल रहा था उसी समय उसमें से एक सांप निकला । जब सांप ने फूंक मारी तो उस समय लड़के ने अपनी आंखें बंद कर ली। उसी समय उस लड़के के सिर के बाल सोने के हो गये ।  जब शाम को उसकी मां गाय घर पर आई तो उसने बोला कि बेटा तुम्हारे बाल सोने के कैसे हो गए।  तो उसने अपनी गाय मां को सारी कहानी बताई । लड़का बोला कि मां एक दिन की बात है मनोहर नाम का राजा था और उसकी एक बेटी थी जिसका नाम था नीरू ।  वह लड़की एक दिन नदी में नहाने के लिए गई तो उसे एक सोने का बाल मिला उसने अपने पिता से कहा कि पिताजी मैं उस लड़के से शादी करूंगी जिसके सिर पर सोने की बाल होंगे अन्यथा में शादी नहीं करूंगी मनोहर ने कहा ठीक है बेटी। Stepmothers challenge Cow love
 
उसी समय मनोहर अपने सिपाहियों के साथ गया और चलते चलते जंगल में पहुंच गया जब उन्होंने देखा कि एक लड़का पेड़ पर उल्टा लटका हुआ है उसी समय उन्होंने कहा कि बेटा नीचे उतरो।  यह लड़का लीलाराम का ही था जो गाय को अपनी मां मानने लगा। लड़का पेड़ से नीचे उतर आया और उसने पूछा आप कौन हो और कहां से आए हो राजा मनोहर ने कहा कि मैं एक राजा हूं मेरी एक बेटी है जिसका नाम नीरू है उसको तुम्हारे सिर का एक सोने का बाल मिल गया है और वह सिर्फ तुमसे ही शादी करना चाहती है। लड़के ने कहा कि मेरी गाय मां है। 

सौतेली माँ की ललकार | गाय माता का प्यार !

उसको आ जाने दो अगर मेरी मां कह देगी तो मैं शादी कर लूंगा। जब गाय मां वंहा आई तो उस राजा ने उस गाय मां को सारी बात बताई तब गाय ने उस लड़के से कहा कि बेटा मैं तो अब कब तक तुम्हारे साथ रह सकती हूं तो अब ऐसा है कि तुम नीरू से शादी कर लो। जब गाय माँ ने ऐसा कह दिया तो उस लड़के ने नीरू से शादी कर ली और वहां से चला गया।
 

You May Like – कंजूश बनिया बनाम भूखा पण्डित – कहानी।

तो हमें इस कहानी से यह सीख मिलती है कि मां को अपनी ममता कभी नहीं भूलनी चाहिए क्योंकि इस संसार में इस दुनिया में मां ही है जो हमें इस दुनिया में सबसे ज्यादा प्यार करती है हमारे छोटे से परिवार में सबसे ज्यादा प्यार करने वाली हमारी माँ ही तो होती है। 

 

0Shares