Karmo Ki Daulat -ratri-kahani- रात्रि कहानी – कर्मो की दौलत !

एक राजा था जिसने ने अपने राज्य में क्रूरता से बहुत सी दौलत इकट्ठा करके (शाही खजाना) आबादी से बाहर जंगल में एक सुनसान जगह पर बनाए तहखाने मे सारे शाही खजाने को पर छुपा दिया थाशाही खजाने की सिर्फ दो चाबियां थी एक चाबी राजा के पास और एक उसके एक खास मंत्री के पास थी। 

 

इन दोनों के अलावा किसी को भी उस खुफिया खजाने का रहस्य मालूम ना था एक दिन किसी को बिना सूचना दिए राजा अकेले अपने खजाने को देखने निकला , तहखाने का दरवाजा खोल कर अंदर दाखिल हो गया और अपने खजाने को देख देख कर खुश हो रहा था , औरशाहीखजाने की चमक से सुकून पा रहा था। (Karmo Ki Daulat – रात्रि कहानी)

 

ratri kahani karmo ki daulat -रात्रि कहानी - कर्मो की दौलत



उसी वक्त राजा का मंत्री भी उस शाही खजाने के दरवाजे से होकर निकला और उसने देखा कीशाही खजाने का दरवाजा खुला है वो हैरान हो गया और ख्याल किया कि कही कल रात जब मैंशाही खजाना देखने आया तब शायद खजाना का दरवाजा खुला रह गया होगा, उसने जल्दी जल्दीशाही शाहीका दरवाजा बाहर से बंद कर दिया और वहां से चला गया। 

उधर खजाने को निहारने के बाद राजा जब संतुष्ट हुआ ,और बाहरी दरवाजे के पास आया तो देखा कि  …दरवाजा तो बाहर से बंद हो गया था . उसने जोर-जोर से दरवाजा पीटना शुरू किया पर वहां उनकी आवाज सुननेवाला उस सुनशान जंगल में कोई ना था (Karmo Ki Daulat – रात्रि कहानी)

Karmo Ki Daulat – रात्रि कहानी – कर्मो की दौलत !

राजा चिल्लाता रहा , पर अफसोस कोई ना आया वो थक हार के खजाने को देखता रहा अब राजा भूख और पानी की प्यास से बेहाल हो रहा था , पागलो सा हो गया.. वो रेंगता रेंगता हीरो के संदूक के पास गया और बोला दुनिया के नायाब हीरो मुझे एक गिलास पानी दे दो.. फिर मोती सोने चांदी के पास गया और बोला मोती चांदी सोने के खजाने मुझे एक वक़्त का खाना दे दो..राजा को ऐसा लगा की हीरेमोती उसे बोल रहे हो की तेरे सारी ज़िन्दगी की कमाई तुझे एक गिलास पानी और एक समय का खाना नही दे सकती..राजा भूख से बेहोश हो के गिर गया

You May Like –Short motivational story in hindi – 12 विश्व की प्रसिद्ध प्रेरक कहानियां।

 

जब राजा को होश आया तो सारे मोती हीरे बिखेर के दीवार के पास अपना बिस्तर बनाया और उस पर लेट गया , वो दुनिया को एक पैगाम देना चाहता था लेकिन उसके पास कागज़ और कलम नही था राजा ने पत्थर से अपनी उंगली फोड़ी और बहते हुए खून से दीवार पर कुछ लिख दिया।
उधर मंत्री और पूरी सेना लापता राजा को ढूंढते रहे पर बहुत दिनों तक राजा ना मिला तो मंत्री राजा के खजाने को देखने आया , उसने देखा कि राजा हीरे जवाहरात के बिस्तर पर मरा पड़ा है , और उसकी लाश को कीड़े मोकड़े खा रहे थे . राजा ने दीवार पर खून से लिखा हुआ थाये सारी दौलत एक घूंट पानी ओर एक निवाला नही दे सकी(Karmo Ki Daulat – रात्रि कहानी)

hindi kahaniya | ratri-kahani-ek karm phal ki kahani !


*यही अंतिम सच है |आखिरी समय आपके साथ आपके कर्मो की दौलत जाएगी , चाहे आप कितनी बेईमानी से हीरे पैसा सोना चांदी इकट्ठा कर लो सब यही रह जाएगा |इसीलिए जो जीवन आपको प्रभु ने उपहार स्वरूप दिया है , उसमें अच्छे कर्म लोगों की भलाई के काम कीजिए बिना किसी स्वार्थ के ओर अर्जित कीजिए अच्छे कर्मो की अनमोल दौलत |जो आपके सदैव काम आएगी |*


You May Like – मनुष्य  को  आत्माएं क्यों दिखाई नहीं देती – जाने इसकी वजह।

तो दोस्तों यह “रात्रि  कहानी – कर्मो की दौलत ” स्टोरी  कैसी लगी ,कृपया कमेंट करके जरूर बताये। यदि यह कहानी आपको अच्छी लगी हो तो प्लीज लाइक  और शेयर  जरूर करे। 
0Shares