Navratri me Naurta pooja kyo hoti hai-नवरात्री में सुअटा (नौरता) बनाकर क्यों पूजती है, कुवारी लड़कियां ?

सुअटा एक बुंदेली लोक संस्कृति में नवरात्र व्रत के बारे में प्रचलित कथा है। बुंदेलखंड उत्तर प्रदेश का एक जनपद है।यहां  की संस्कृति पुरे उत्तर प्रदेश से भिन्न है। प्राचीन काल में सुअटा अथवा नौरता  एक दानव था जो कवारी  लड़कियों का अपहरण करता था  और उनके साथ दुर्व्यवहार करता था। इस सुअटा नाम के दानव से दुखी होकर सभी कवारी लड़कियां दुर्गा माता की शरण में गई, और माता को सुअटा के अत्याचार एंव दुर्व्यवहार के  बारे में  बताया। (Navratri me Naurta pooja kyo hoti hai)

Navratri me Naurta pooja kyo hoti hai

तब दुर्गा माता ने उस सुअटा नाम के राक्षस का  वध कर, उस गांव की सभी कंवारी लड़कियों को भय मुक्त किया। तब से कंवारी लड़कियां उस राक्षस के मारे  जाने की खुशी में व्रत रखती हैं।और दीवार पर सुअटा अथवा राक्षस का चित्र बनाती हैं इस दानव को नौरता भी कहा जाता है। जो कि क्वार  मास की नवरात्रि व्रत में कंवारी लड़कियों द्वारा घरों  की दीवार पर बनाया जाता है। (Navratri me Naurta pooja kyo hoti hai)

Navratri me Naurta pooja kyo hoti hai  | बुंदेलखंड में क्यों होती है, इस राक्षस की पूजा ? जाने इसके पीछे की वज़ह …?

यूं तो देखने में  सुअटा  महज  एक मिट्टी का पुतला है  इसका  एक  हाथ ऊपर और एक हाथ नीचे और टेढ़े पैरों वाला मिट्टी  का पुतला बुंदेलखंड में नवरात्रि  के  अवसर पर अक्सर गांव में घरों की दीवारों पर देखा जाता है। इसकी आंखें कान और मुह  बनाने  के लिए कौड़ियों  का  इस्तेमाल  किया जाता है  यही नहीं इसको कौड़ियों से ही  अलंकृत किया जाता है ।(Navratri me Naurta pooja kyo hoti hai)

कुंवार माह की शारदीय नवरात्र के पहले दिन एक तरफ जहां जगह – जगह पंडालों में देवी जी की प्रतिमा को बनाया जाता  है , तो वहीं दूसरी ओर  सुआटा अथवा नौरता को भी बुंदेलखंड में घरों की दीवारों पर मिट्टी से बनाया जाता है। और  गांव की सभी क्वारी लड़कियां  एंव  बच्चे इस नौरता को सजा – धजा कर नवरात्रि  के सभी दिनों में इसका पूजा -पाठ  करते है। और नवरात्री ख़त्म होते ही इसका दसहरा के दिन बड़ी धूम -धाम से विसर्जन किया जाता है। 

You May Like – मनुष्य  को  आत्माएं क्यों दिखाई नहीं देती – जाने इसकी वजह।


तो दोस्तों यह जानकारी आपको कैसी  लगी  कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताये। यदि यह  आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो कृपया इसे  लाइक  और share ज़रूर  करें। 
 
तो दोस्तों फिर मिलेंगे कोई नया आर्टिकल लेकर तब तक के लिए अलविदा। 
1Shares