kabj dur karne ke upay in hindi | 5 बीमारियां ख़त्म, यदि ये चीजें रोज सुबह लेते है !

kabj dur karne ke upay in hindi ! हैल्लो दोस्तों इस Health and Beauty पेज पर आपका बहुत -बहुत  स्वागत है। हम आप लोंगो तक  सेहत  और सुन्दरता  से संबन्धित आर्टिकल इस पेज के माध्यम से पहुंचते रहेंगे। इन आर्टिकलो  को पढ़कर आप अपने दिनचर्या  में बदलाव कर सकते है और  अपनी  सेहत को भी सुधार सकते है। इसके आलावा  Health and Beauty पेज पर आपको सुंदरता से संबन्धित  टिप्स वाले आर्टिकल मिलेंगे। जिन्हें  पढ़कर आप सुंदरता से संबन्धित  समस्याों  का समाधान स्वयं कर सकते है। (kabj dur karne ke upay in hindi )

kabj dur karne ke upay in hindi

kabj dur karne ke upay in hindi | Pet ki gas ka gharelu upchar in hindi !

 
आज कल हर तीसरे मनुष्य की ख़राब सेहत के चलते यह एक आम समस्या बन गयी है। हर कोई मनुष्य एक अच्छी सेहत चाहता है। लेकिन प्रत्येक  मनुष्य एक आलस्य के चलते अपने शरीर की सुरक्षा एंव देखभाल नहीं कर पाता। और ये आलस्य ही  मनुष्य को  एक बड़ी और गंभीर  बीमारी की तरफ ले जाता है , फलस्वरूप ये  बीमारियां हमारे शरीर का संतुलन बिगाङ  देती है। जिसके कारण  मनुष्य जिन्दगी  और मौत के बीच  लटका  रहता है।  तो हम नीचे  कुछ टिप्स दे रहे है।यदि ये कुछ नियम  आप फॉलो कर पाते  है तो आप निश्चित ही इन पांच बीमारियों से बच सकते है। तो ये है पांच गंभीर और बड़ी बीमारियां जो मनुष्य के जीवन को पूरी तरह प्रभावित करती है। 

(1)मधुमेह (Diabetes )
(2)हृदय रोग  (Heart Attack )
(3)कैंसर (Cancer )
(4)कब्ज़ (Constipation)
(5)पेट की गैस (Acidity )


कब्ज  और  पेट की  गैस, एक बड़ी  बीमारी  नहीं है बल्कि बीमारी  की  जड़ है। इसमें  मधुमेह, हृदय रोग ,कैंसर जैसी बीमारी ज्यादातर पेट की  गैस  और कब्ज़ के कारण  होती है। जो  ठीक  होने  का  नाम ही नहीं लेती ,और लम्बे समय  तक चलती है ,फलस्वरूप  आपको मौत के मुँह में धकेलती है। इसका मुख्य  कारण  है पेट में गैस और कब्ज जो एक हर तीसरे मनुष्य की आम  समस्या  बन गई है। kabj dur karne ke upay in hindi


Pet ki kabj kaise dur kare – पेट की गैस और कब्ज को जड़ से ख़त्म कैसे करें ?

इसके निदान के लिए आप – सुबह उठने के बाद सबसे पहले आप दो ग्लास शुद्ध व् ताजा  पानी पिए। यदि आप पहले से ही कब्ज से ग्रसित है तो आप हल्का गुनगुना पानी ले सकते है। जिससे आप को कब्ज में फायदा पहुंचेगा। यह आप प्रतिदिन खाली पेट पानी पिने की आदत डाल लीजिये। आप के पेट की कब्ज में  दिन प्रतिदिन फायदा पहुंचेगा। पानी पिने के करीब दो घंटे  बाद आप हल्का नास्ता ले। इसमें आपको फलों  का नास्ता लेना है। जैसे -सेव ,पपीता ,केला अमरूद आदि। अनार खाने से बचें यदि आपको पहले से कब्ज है। क्योंकि  अनार कब्ज को बढ़ावा देता है। यह नास्ता भी आपको daily Routeen  में शामिल करना है। जब तक की आपको कब्ज और गैस की समस्या  खत्म नहीं हो जाती। 

 


आपको दिन के खाने में ज्यादातर क्षारीय भोजन का इस्तेमाल करना है। जैसे – हरी सब्जी (लोकी ,तोरई ,भिन्डी ,बंद गोभी  ,फूल गोभी  ,पालक  का साग ,सरसों  के पत्ते की भुजिआ  ,मसूर की छिलके वाली  दाल ,और सलाद में  जैसे -गाजर ,मूली  ,खीरा ,चुकन्दर  और  दही ,छाछ ,मख्खन ,घी  आदि। और साथ ही आपको अम्लीय भोजन से परहेज करना है जैसे – बेसन (कड़ी) ,अरहर दाल ,उर्द दाल ,मटर , अण्डा ,चिकन -मटन  ,गर्म दूध ,उबले चावल ,रिफाइन्ड  अथवा डालडा से तले खाद्य पदार्थ , तम्बाकू ,एल्कोहल   आदि। (kabj dur karne ke upay in hindi )

Pet mein gas kyu banti hai | pet ki bimari ke lakshan | pet ki bimari ki dua in hindi ! 

आपके शरीर में जैसे -जैसे क्षारीय पदार्थो की मात्रा बढ़ेगी तो आपको दिन प्रतिदिन अपने शरीर पर बद्लाव  महशूस होगा  और शरीर में स्थित बिषाक्त पदार्थ और एसिड धीरे -धीरे आपके मूत्र द्वारा शरीर से बाहर  निकल जायेंगे। और पेट गैस और कब्ज जड़ से ख़त्म हो जाएंगे ,साथ ही आपके शरीर का  PH मान (PH  Level 7.0 से)  बढ़ने लगेगा , और आपका शरीर स्वस्थ हो जायेगा। यदि आप हमेशा स्वस्थ रहना चाहते है तो आपको ज्यादा से ज्यादा क्षारीय पदार्थों  का सेवन चाहिए ,और अम्लीय (एसिड) भोजन का  सेवन कम से कम करें और जहा तक हो आप अम्लीय भोजन से बचें ।

pet kee gais aur kabj ko jad se khatm kaise karen

 

kabj dur karne ke upay in hindi | क्यों बनती है पेट गैस और कब्ज  ? जानिए पूरी जानकारी !

मनुष्य के शरीर में सामान्यता  80 % क्षार 20% अम्ल होता है। जब हमारे शरीर में एसिड या अम्ल की मात्रा  30%  से ज्यादा होने लगती है तो हमारे शरीर में  पेट गैस एंव खट्टी डकारें  आना, और कब्ज की शिकायत होने लगती है और जब एसिड की मात्रा 40% से ज्यादा हो जाती है तो हमारे शरीर में पेट की गैस की वजह से भयंकर दर्द और कब्ज हो जाती है जब एसिड की मात्रा 50% से ज्यादा हो जाती है तब हमारे शरीर में गभीर व् भयंकर रोग उत्पन्न होने लगते है  जैसे –(A) मधुमेह (Diabetes )  (B) हृदय रोग  (Heart Attack )   (C) कैंसर (Cancer ) आदि। (kabj dur karne ke upay in hindi )

Pet ki kabj kaise thik kare !

 
सामान्यता मनुष्य के शरीर का PH मान 7.4 होता है। जब मानव के शरीर का  PH मान 7.0 से  कम होता है। तो यह अम्लीय और जब  शरीर का  PH मान 7.0 से अधिक होता है तब इसको क्षारीय कहते है। मानव शरीर का PH मान 7.0 से लेकर 14.0 तक  होता है। और सभी पदार्थो का PH मान अलग -अलग  होता हैं।  जैसे – जल का  PH मान 7.0 होता हैं।  जो न अम्लीय है और न क्षारीय। अतः जब मनुष्य के शरीर का  PH मान 7.0 से कम होने लगता है तो मनुष्य को थकान महशूस होने लगती है ,और पेट गैस ,कब्ज की शिकायत होने लगती है। और अच्छे स्वास्थ के लिए मनुष्य का  PH मान 7.0 से अधिक होना चाहिए। 
तो दोस्तों यह सेहत और सुंदरता से सम्बंधित आर्टिकल आपको कैसा लगा  ,कृपया कमेंट बॉक्स मेँ  कमेंट करके बताये ,यदि यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा  हो तो ,कृपया इस आर्टिकल को लाइक  और शेयर जरूर करें। 

इस आर्टीकल को पढ़ने के लिए आपको बहुत -बहुत  धन्यबाद। तो फिर मिलेंगे दोस्तों कोई नया  आर्टिकल  लेकर तब तक के लिए अलविदा। आपका दिन मंगलमय हो। 
1Shares