Do you also want to be something in life – क्या आप भी जीवन में कुछ बनना चाहते हैं ?

Do you also want to be something in life नमस्कार दोस्तों क्या आप भी जीवन में कुछ बनना चाहते हैं। दोस्तों एक बात हम आपको बता दें कि ज्यादातर लोगों का अपना एक लक्ष्य होता है लेकिन समाज के लोगों या अपने दोस्तों की तरह तरह की बातें सुनकर हम उस लक्ष्य तक पहुंचने में नाकामयाब हो जाते हैं ऐसे लोग हमें हमारे लक्ष्य तक पहुंचने में बाधा बन जाते हैं।

Do you also want to be something in life

 

इसलिए अगर आप जीवन में कुछ अच्छा करना चाहते हैं तो सबसे आवश्यक यह है कि दुनिया की बातें सुनने से अच्छा है कि आप अपने कान बंद कर लीजिए और अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ते रहिए यह बात खासकर उन युवा लोगों के लिए है जो जीवन में कुछ करना तो चाहते हैं पर दूसरे के कहने सुनने पर अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाते हैं और वहीं के वहीं दबे के दबे रह जाते हैं ।

You May Like – 15 Hindi Short Stories With Moral for kids – 15 प्रेरणादायक कहानियाँ

Do you also want to be something in life ?

दोस्तों किसी ने सच ही कहा है कि ,जिंदगी जीनी है तो अपनी मर्जी से जियो क्योंकि दूसरों के इशारों पर तो सर्कस में शेर भी नाचते हैं,दोस्तों आपको छोटी सी कहानी सुनाता हूं कि एक जगह एक मेंढकों का झुंड रहता था 1 दिन इस मेंढकों के झुंड ने एक ऊंचे पहाड़ पर चढ़ने का प्लान बनाया और यह शर्त रखी कि कौन सबसे पहले इस ऊंचे पहाड़ की चोटी पर चढ़ जाए।

सभी मेंढकों ने पहाड़ की चोटी को अपना लक्ष्य बना लिया और धीरे-धीरे उस पहाड़ पर चढ़ने लगे लेकिन पहाड़ की ऊंचाई इतनी ज्यादा थी कि कुछ ही कदम चढ़ने के बाद सब मेंढक धीरे-धीरे गिरने लगे और वापस पहाड़ के नीचे धरती पर आ गए और कुछ मेढकों ने फिर कोशिश की पर वो भी थोड़े ऊपर चढ़ने के बाद वापस जमीन पर गिर पड़े ।Do you also want to be something in life

दोस्तों पर उन मेढकों के झुंड में एक मेंढक था जो लगातार धीरे-धीरे ऊपर चढ़ता जा रहा था वह अकेला चढ़ता जा रहा था पर उसके और मेंढक जो साथी थे जो नीचे जमीन पर खड़े थे वे सब उछल उछल कर, चिल्ला चिल्लाकर, हाथ हिलाकर, कह रहे थे कि अरे भाई ऊपर मत चढ़ तू गिर जाएगा- गिर जाएगा और गिर गया तो बचेगा नहीं क्योंकि ऊंचाई बहुत ज्यादा है।

kya aap bhee jeevan mein kuchh banana chaahate hain ?

लेकिन फिर भी वह मेंढक लगातार चढ़ता गया और दोस्तों वह मेंढक पहाड़ की चोटी पर आखिर पहुंच ही गया और अपना लक्ष्य हासिल कर लिया दोस्तों क्या आप जानते हैं यह मेंढक ऊपर कैसे चढ़ पाया क्योंकि वह मेंढक दोनों कानों से बिल्कुल बहरा था उसे कुछ सुनाई नहीं दे रहा था। जब उस मेंढक के साथी नीचे से चिल्ला रहे थे। Do you also want to be something in life

 

kya aap bhee jeevan mein kuchh banana chaahate hain

 

 

कि तू मत चढ़- तू मत चढ़ तू गिर जाएगा तो वह समझ रहा था कि ये सब मुझे हाथ उठाकर हौसला दे रहे हैं कि तू चढ़ जा- तू चढ़ जा तू चढ़ जाएगा हम तेरे साथ हैं। तो दोस्तों जीवन में कुछ करना है तो बहरे बन जाइए और अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते रहिए इस दुनिया के लोग क्या कहते हैं यह सोचना बिल्कुल बंद कर दीजिए।Do you also want to be something in life

You May Like  – Top 10 Hindi Stories With Moral – संसार की सर्वश्रेष्ठ 10 प्रेरक कहानियाँ

अगर आप ऐसे लोगों की बातों के बारे में सोचते रहे तो आप जिंदगी में कुछ नहीं कर सकते हो । इसलिए दोस्तों मेरा आपसे यही निवेदन है कि आप अपने लक्ष्य की ओर बढ़े और दुनिया की बात छोड़ कर अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करें।

दोस्तों अगर आपको हमारी यह कहानी अच्छी लगी तो लाइक एवं शेयर जरूर करें।

2Shares